Wed. Apr 17th, 2024
घर से मतदान की सहमति लेकर महिला मतदाता को भूल

सतना न्यूज़ आज – आपका आज का स्रोत सतना शहर की खबर। हमारी टीम सतना नगर की ताज़ा और महत्वपूर्ण ख़बरों को प्रस्तुत करने के लिए समर्पित है।

आज, हम आपके साथ एक नई ख़बर साझा करना चाहते हैं Satna News Today

बीमारी के कारण परिवार के सदस्यों ने घर से ही मतदान करने के लिए पंजीकरण कराया था।

सतना. विधानसभा चुनाव में चुनाव आयोग के निर्देश पर 80 से अधिक मतदाताओं व दिव्यांगों के मतदान केंद्रों को उनके घर तक पहुंचाने का निर्णय लिया गया. इस कार्यक्रम के तहत 80 वर्ष से अधिक उम्र के मतदाताओं से बीएलओ के माध्यम से सहमति ली गयी. सतना जिले में लगभग 1886 वरिष्ठ एवं दिव्यांग मतदाताओं ने डाक मतपत्र के माध्यम से मतदान करने हेतु पंजीयन कराया था। इसके तहत कृष्णानगर साउथ सतना निवासी स्वर्गीय लक्ष्मीनारायण अग्रवाल की पत्नी मिथलेश कुमारी अग्रवाल ने भी पंजीयन कराया था। सहमति देने के बाद भी निर्धारित अवधि में कोई मतदान करने नहीं आया। बीएलओ भरत बाल्मीक का कहना है कि उनका काम सूचना देना था, मतदान की जिम्मेदारी अलग-अलग अधिकारियों की है.

उल्लेखनीय है कि भारत निर्वाचन आयोग ने 80 वर्ष से अधिक उम्र के वरिष्ठ मतदाताओं और 40 प्रतिशत से अधिक विकलांगता वाले मतदाताओं को घर से मतदान करने की वैकल्पिक सुविधा प्रदान की है। निर्वाचन कार्यालय से प्राप्त जानकारी के अनुसार मध्य प्रदेश विधानसभा चुनाव-2023 के तहत जिले के 80 वर्ष से अधिक उम्र के वरिष्ठ एवं दिव्यांग मतदाताओं को घर से मतदान करने की सुविधा का लाभ दिया गया है।

कहां कितनी वोटिंग

6 से 10 नवंबर तक जिले में 1886 वरिष्ठ एवं दिव्यांग मतदाताओं ने घर बैठे मतदान की सुविधा का लाभ उठाया है। जिसमें चित्रकूट विधानसभा क्षेत्र से 285, रैगांव से 419, सतना से 19, नागौद से 494, मैहर से 193, अमरपाटन से 61 और रामपुर बाघेलान विधानसभा क्षेत्र से 235 अनुपस्थित श्रेणी के मतदाताओं ने मतदान किया है। इसके साथ ही आवश्यक सेवाओं से जुड़े 18 लोगों ने मतदान किया है. इस बार जिले के 185 मतदाताओं को घर बैठे मतदान की सुविधा दी गयी.

होम वोटिंग के लिए फॉर्म 12(डी) भरा गया।

घर पर मतदान की सुविधा

चुनाव आयोग ने वरिष्ठ मतदाताओं और 40 प्रतिशत से अधिक विकलांगता वाले मतदाताओं को घर से मतदान करने की सुविधा प्रदान की थी। जिले में 80 वर्ष से अधिक आयु वर्ग के 22 हजार 447 और 17 हजार 879 दिव्यांग मतदाता हैं। इनमें से 1985 लोगों ने फॉर्म 12(डी) भरकर घर से मतदान की सुविधा मांगी थी। जिसमें से 1886 लोगों ने मतदान किया, जबकि करीब 99 लोगों के मतदान की व्यवस्था नहीं हो सकी. इसकी वजह क्या है इसकी फिलहाल आधिकारिक पुष्टि नहीं हो सकी है.

हम निरंतर नवीनतम और महत्वपूर्ण ख़बरों को आपके सामने पेश करने के लिए काम कर रहे हैं, इसलिए हमारी वेबसाइट पर और भी ख़बरों के लिए बने रहें। हमारे समुदाय का हिस्सा बनने के लिए धन्यवाद!
Satna News Today

#घर #स #मतदन #क #सहमत #लकर #महल #मतदत #क #भल #गय #नरवचन #करयलय. #Swadesh

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *