Sun. Apr 14th, 2024
Singrauli News दीपावली की रात मोरवा में आग का तांडव

सतना न्यूज़ आज – आपका आज का स्रोत सतना शहर की खबर। हमारी टीम सतना नगर की ताज़ा और महत्वपूर्ण ख़बरों को प्रस्तुत करने के लिए समर्पित है।

आज, हम आपके साथ एक नई ख़बर साझा करना चाहते हैं Satna News Today

सिंगरौली न्यूज़: सिंगरौली। दिवाली की रात मोरावा शहर में आग का तांडव देखने को मिला. रात करीब दो बजे पुरानी बाजार स्थित विनोद जायसवाल की फर्नीचर दुकान में शार्ट सर्किट से आग लग गयी. आग इसका असर हुआ. देखते ही देखते दुकान समेत पूरा घर आग की चपेट में आ गया। रात दो बजे से सुबह करीब छह बजे तक स्थानीय लोग आग पर काबू पाते दिखे. इस घटना में विनोद जयसवाल के बगल में स्थित उनके भाई रोहित जयसवाल की दुकान भी ध्वस्त हो गयी.

ये भी पढ़ें

जानकारी के मुताबिक, रात दो बजे जब स्थानीय लोगों ने आग की लपटें निकलती देखीं तो ऊपर सो रहे परिजनों को इसकी जानकारी दी. इसके बाद सभी लोग आग बुझाने का प्रयास करने लगे। इस बीच लोगों द्वारा स्थानीय पुलिस प्रशासन सहित अग्निशमन विभाग व बिजली विभाग को भी सूचना दी गयी.

जब तक अग्निशमन विभाग की गाड़ी पहुंची तब तक आग ने विकराल रूप धारण कर लिया था. जिसके नीचे दो दुकानों सहित ऊपरी मकान आ गए। स्थानीय लोगों की मदद से परिवार के सदस्यों को घर में रखे सिलेंडर और कीमती सामान लेकर भागना पड़ा। बताया जाता है कि ऊपर के मकान में दोनों भाइयों के परिवार समेत करीब एक दर्जन लोग रहते थे.

ये भी पढ़ें

प्लास्टिक के कारण आग भड़क गई

व्यवसायी विनोद जयसवाल की फर्नीचर की दुकान प्लास्टिक की थी. उसकी दुकान बहुतायत में प्लास्टिक की मेज, कुर्सियाँ, अलमारी आदि से भरी हुई थी। शॉर्ट सर्किट से लगी आग ने प्लास्टिक को अपनी चपेट में ले लिया, जिससे आग और फैलने लगी.

स्थानीय लोगों ने शटर तोड़कर आग पर काबू पाने की कोशिश की, लेकिन आग इतनी भीषण हो गयी थी कि नीचे की दुकान से आग की लपटें ऊपर के घर तक जलने लगीं. स्थानीय लोगों की मदद से बुजुर्ग पिता समेत बच्चों व महिलाओं को घर से बाहर निकाला गया. कारोबारी विनोद जयसवाल के मुताबिक इस हादसे में उन्हें करीब 50 लाख रुपये का नुकसान हुआ है.

डेढ़ घंटे बाद अग्निशमन विभाग पहुंचा

आग लगने की सूचना मिलने पर नगर निगम की फायर ब्रिगेड गाड़ी डेढ़ घंटे बाद पहुंची. स्थानीय लोगों का आरोप है कि अग्निशमन वाहन में आधा टैंकर पानी ही भरा था, जो जल्द ही खत्म हो गया. गाड़ी में पानी भरने के लिए दोबारा जाना पड़ा। मुख्य रूप से स्थानीय लोगों और पुलिस प्रशासन की मदद से जयंत स्थित सीआईएसएफ की अग्निशमन गाड़ियां आग पर काबू पाने की कोशिश करती रहीं.

लोगों की मानें तो अगर सीआईएसएफ विभाग अग्निशमन वाहन के साथ मौजूद नहीं होता और 1 घंटे तक आग पर काबू नहीं पाया जाता तो पूरा इलाका इसकी चपेट में आ जाता. गौरतलब है कि ऑडी मेला के कारण अग्निशमन वाहन झिगुरदा स्थित हनुमान मंदिर में खड़ा था. सूचना के बाद उन्हें यहां पहुंचने में समय लग गया.

घटना के बाद लोगों में नगर निगम के खिलाफ गुस्सा देखा गया

अगलगी की इस घटना में दुकान समेत पूरा घर जलकर राख हो गया। अब उस घर में रहने की स्थिति नहीं है. इसे तोड़कर दोबारा बनाना होगा, अगर ऐसा नहीं किया गया तो उस सड़क पर कभी भी बड़ा हादसा देखने को मिल सकता है. इस घटना को लेकर पक्ष हो या विपक्ष, स्थानीय लोगों समेत सभी नगर निगम के खिलाफ गुस्से में दिखे.

लोगों का आरोप है कि मोरवा नगर निगम उपकेंद्र में 1999 के सर्वे ऑफ फायर वाहन को रखा गया था. कुछ साल पहले जब होली के दिन गर्ग किरण में भीषण आग लग गई थी तो स्थानीय लोगों ने नगर निगम के खिलाफ गुस्सा जाहिर किया था. इसके बाद मोरवा में नया अग्निशमन वाहन आया लेकिन कुछ दिनों बाद उसे जिला मुख्यालय भेज दिया गया. इस तरह मोरवा की अनदेखी के कारण लोगों को हर बार भयानक दुर्घटना का सामना करना पड़ता है, जिससे लोगों में आक्रोश है.

के द्वारा प्रकाशित किया गया हेमन्त कुमार उपाध्याय

हम निरंतर नवीनतम और महत्वपूर्ण ख़बरों को आपके सामने पेश करने के लिए काम कर रहे हैं, इसलिए हमारी वेबसाइट पर और भी ख़बरों के लिए बने रहें। हमारे समुदाय का हिस्सा बनने के लिए धन्यवाद!
Satna News Today

#Singrauli #News #दपवल #क #रत #मरव #म #आग #क #तडव #घट #तक #जलत #रह #फरनचर #क #दकन #Nai #Dunia

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *