Fri. Apr 19th, 2024
चुनाव ड्यूटी के लिए शिक्षक ने की अनोखी डिमांड पढ़ने

सतना न्यूज़ आज – आपका आज का स्रोत सतना शहर की खबर। हमारी टीम सतना नगर की ताज़ा और महत्वपूर्ण ख़बरों को प्रस्तुत करने के लिए समर्पित है।

आज, हम आपके साथ एक नई ख़बर साझा करना चाहते हैं Satna News Today

विकास पांडे/सतना: मध्य प्रदेश विधानसभा चुनाव शुरू हो गए हैं. 17 नवंबर को वोटिंग भी होनी है. ऐसे में प्रशासन की तैयारियां जोरों पर हैं. इसी क्रम में सतना से एक अजीबोगरीब मामला सामने आया है, जहां एक शिक्षक ने चुनाव ड्यूटी को लेकर जिला निर्वाचन अधिकारी के सामने एक शर्त रख दी है. शर्त यह है कि अगर उसकी शादी हो जाए और उसे दहेज में 35 लाख रुपये और फ्लैट खरीदने के लिए लोन मिले, तभी वह चुनाव ड्यूटी करेगा, अन्यथा वह ड्यूटी नहीं करेगा।

दरअसल, इसी महीने राज्य में विधानसभा चुनाव हैं, जिसमें बड़ी संख्या में सरकारी कर्मचारियों की चुनाव ड्यूटी लगनी है. चुनाव से कुछ दिन पहले कर्मचारियों को प्रशिक्षण के लिए केंद्र में बुलाया जाता है। इसी क्रम में अमरपाटन विकासखंड के शा. मध्य विद्यालय महुडर में पदस्थापित शिक्षक अखिलेश कुमार तिवारी को मतदान से संबंधित प्रशिक्षण के लिए 16 अक्टूबर को बुलाया गया था. लेकिन वह अनुपस्थित रहे, जिसके चलते उन्हें नोटिस भेजा गया. शिक्षक ने नोटिस का जवाब भी भेजा, जिसमें उसने जो लिखा उसे पढ़कर अधिकारी भी हैरान रह गए.

नोटिस में लिखी गई अजीब बात
“मैं अपना पूरा जीवन अपनी पत्नी के बिना बिता रहा हूँ। मेरी सारी रातें खराब हो गई हैं, इसलिए पहले मेरी शादी करा दो और रुपये जमा करा दो। दहेज के रूप में 35 लाख नकद या हिसाब-किताब। रीवा के सिंगरौली टावर या समदरिया में फ्लैट के लिए भी लोन लें। उन्होंने आगे लिखा, ”नौकरी के बाद मेरा हाथ टूट गया है और रीढ़ की हड्डी भी काम नहीं करती, मेरे हस्ताक्षर किसी दूसरे व्यक्ति ने किए हैं. मेरे हस्ताक्षर का कोई महत्व नहीं है”। अपने दुःख में शिक्षक ने अपने अभिभावक को एक पत्र लिखा, जिसमें उन्होंने बकाया राशि का भुगतान न करने और एक सेवानिवृत्त इंजीनियर द्वारा उनकी भौतिक सुख-सुविधाएँ हड़प लेने के बारे में लिखा। इसके बाद अंत में उन्होंने आवेदक के हस्ताक्षर के साथ अधिकारियों को अपने बारे में जानकार रहने की सलाह भी लिखी.

सम्बंधित खबर

शिक्षक निलंबित
अमरपाटन एसडीएम आरती यादव ने बताया कि 16 अक्टूबर को अमरपाटन विकासखंड के महुडेर माध्यमिक शाला में पदस्थ शिक्षक अखिलेश कुमार तिवारी को चुनाव संबंधी प्रशिक्षण के लिए बुलाया गया था, लेकिन यह शिक्षक अनुपस्थित रहे. ऐसे में उन्हें कारण बताओ नोटिस भेजा गया, जिसमें शिक्षक अखिलेश तिवारी ने जो जवाब लिखा वह असंगत और विषय के अनुरूप नहीं था. इस कारण शिक्षक को कलेक्टर ने निलंबित कर दिया है.

.

हम निरंतर नवीनतम और महत्वपूर्ण ख़बरों को आपके सामने पेश करने के लिए काम कर रहे हैं, इसलिए हमारी वेबसाइट पर और भी ख़बरों के लिए बने रहें। हमारे समुदाय का हिस्सा बनने के लिए धन्यवाद!
Satna News Today

#चनव #डयट #क #लए #शकषक #न #क #अनख #डमड #पढ़न #पर #हरन.. #कय #ससपड #लटर #वयरल #News18 #हद

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *