Wed. Apr 17th, 2024
‘Wife Flat Treatment Asks Govt School Teacher In Exchange Of

सतना न्यूज़ आज – आपका आज का स्रोत सतना शहर की खबर। हमारी टीम सतना नगर की ताज़ा और महत्वपूर्ण ख़बरों को प्रस्तुत करने के लिए समर्पित है।

आज, हम आपके साथ एक नई ख़बर साझा करना चाहते हैं Satna News Today

एक विचित्र घटना में, एक विकलांग सरकारी स्कूल शिक्षक ने अधिकारियों से कहा कि पहले वह उसकी शादी कराएं, उसके लिए एक फ्लैट खरीदें और उसे सतना में चुनाव ड्यूटी पर तैनात करने से पहले उसका इलाज कराएं।

यह घटना तब प्रकाश में आई जब आगामी विधानसभा चुनाव 2023 में चुनाव ड्यूटी करने से इनकार करने के बाद अधिकारियों ने उन्हें कारण बताओ नोटिस जारी किया।

महुदर, अमरपाटन, सतना के सरकारी उच्चतर माध्यमिक विद्यालय में 35 वर्षीय शिक्षक अखिलेश कुमार तिवारी की भौंहें तब तन गईं जब उन्होंने जिला प्रशासन से चुनाव ड्यूटी प्रशिक्षण से पहले शादी करने की अनुमति देने का अनुरोध किया। यह असामान्य अनुरोध तब सामने आया जब सतना जिले के सरकारी स्कूल के शिक्षकों को मध्य प्रदेश विधानसभा चुनाव की तैयारी के लिए 16-17 अक्टूबर को चुनाव ड्यूटी प्रशिक्षण से गुजरने का निर्देश दिया गया।

आधिकारिक निर्देश के बावजूद, तिवारी ने प्रशिक्षण से इनकार करने का विकल्प चुना, जिसके बाद जिला प्रशासन को कारण बताओ नोटिस जारी करना पड़ा और उनके कार्यों के लिए स्पष्टीकरण मांगा गया।

और पढ़ें: बीजेपी मुझसे डरती है, चुनाव से पहले मेरी छवि खराब करने की कोशिश कर रही है: सीएम बघेल

एक अपरंपरागत कदम में, 31 अक्टूबर को, तिवारी ने अपनी अनूठी मांग को रेखांकित करते हुए, प्रशासन को “प्वाइंट टू पॉइंट जवाब” प्रदान किया। यह पता चला कि अविवाहित तिवारी ने चुनाव ड्यूटी प्रशिक्षण से पहले अधिकारियों से उनकी शादी की सुविधा देने का आग्रह किया था। सोशल मीडिया पर शेयर किए गए लेटर में उन्होंने भावुक होकर कहा, ‘ट्रेनिंग से पहले मेरी शादी करा दो। मेरी पूरी जिंदगी मेरी पत्नी के बिना गुजर रही है, मेरी सारी रातें बर्बाद हो गयी हैं।”

अपने अनुरोध में, तिवारी ने शर्त लगाई कि अगर उन्हें 35 लाख रुपये का दहेज मिलेगा तो वह द्वीप पर जाने के लिए सहमत होंगे। उन्होंने अधिकारियों से रीवा जिले में एक फ्लैट के लिए ऋण देने के लिए भी कहा। अपने जवाब में तिवारी ने बताया कि उनका हाथ टूट गया है और वह रीढ़ की हड्डी की बीमारी से पीड़ित हैं.

पत्र, जिसमें तिवारी के हस्ताक्षर थे, में एक काव्य पंक्ति भी शामिल थी: “क्या करें? मेरे पास शब्द नहीं हैं, आप स्वयं ज्ञान के सागर हैं।”

यह अपरंपरागत अनुरोध जिला प्रशासन को रास नहीं आया, जिसके परिणामस्वरूप 2 नवंबर को सतना कलेक्टर अनुराग वर्मा को निलंबित कर दिया गया।

हम निरंतर नवीनतम और महत्वपूर्ण ख़बरों को आपके सामने पेश करने के लिए काम कर रहे हैं, इसलिए हमारी वेबसाइट पर और भी ख़बरों के लिए बने रहें। हमारे समुदाय का हिस्सा बनने के लिए धन्यवाद!
Satna News Today

#Wife #Flat #Treatment #Asks #Govt #School #Teacher #Exchange #Election #Duty #News24

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *